इंडियाफर्स्ट लाइफ राइडर

आपकी अद्वितीय आवश्यकताओं के अनुरूप समाधान

हम समझते हैं कि एक व्यक्ति के रूप में आपके पास सुरक्षा, सेवानिवृत्ति, बचत एवं सम्पत्ति से जुड़ी विशिष्ट आवश्यकताएं हैं। हमारा लक्ष्य है कि हम उत्पादों की शृंखला द्वारा आपकी उन आवश्यकताओं को पूरा करने में सहायता करें, ताकि आप अपनी शर्तों पर जीवन जी सकें। अपनी जोखिम लेने की रुचि एवं क्षमता के आधार पर आप यूनिट लिंक्ड से लेकर पारम्परिक योजनाओं में से किसी में भी निवेश कर सकते हैं।

पृथक व्यक्तियों के लिए हमारे प्लान देखें अभी योजना बनाना प्रारंभ करें!

इंडियाफर्स्ट द्वारा ऑफर किए जाने वाले इंडियाफर्स्ट लाइफ राइडर प्लान को क्यों चुनें?

  • बेहतर लाइफ कवरेज

    इंडियाफर्स्ट टर्म राइडर चुनें और एक मामूली प्रीमियम का भुगतान करके अपने लाइफ कवर को बेहतर बनाएं

  • भविष्य के प्रीमियम की छूट (वेब ऑफ)

    इसमें राइडर लेने बीमित व्यक्ति की मृत्यु होने, दुर्घटना के कारण स्थायी विकलांगता अथवा अति-गम्भीर बीमारी की स्थिति में आपकी बेस पॉलिसी में भविष्य के प्रीमियम भुगतान को छोड (वेव ऑफ) दिया जाता है।

  • कर लाभ

    मौजूदा कर कानूनों के अनुसार कर लाभ जाएं, इन्हें समय-समय पर संशोधित किया जाता है।

विचार करने वाले कुछ कारक

  • अतिरिक्त लाइफ कवर

  • उचित प्रीमियम दर

  • तीन भिन्न कवरेज विकल्प

  • जरूरत के समय आपकी सहायता के लिए 10 अति-गम्भीर बीमारी

प्राय: पूछे जाने वाले प्रश्न

  • मुझे एक प्लान में कितना लाइफ कवर खरीदना चाहिए?

    आपका लाइफ कवर इतना पर्याप्त होना चाहिए कि उससे आप अपने सभी ऋण एवं लोन का भुगतान कर सकें और वह आपकी आय का काम भी करे, खासतौर पर यदि आप ही अपने परिवार के एकमात्र धनोपार्जन करने वाले व्यक्ति हैं। अपनी वार्षिक आय को पॉलिसी में जोड़ने से आप मुद्रास्फीति के विरुद्ध एक प्रभावी सुरक्षा कवच पा सकते हैं। अपने भविष्य के दायित्वों को ध्यान में रखतें – जैसे कि अपने बच्चे की शिक्षा तथा अपने जीवनसाथी का स्वास्थ्य।

  • जीवन बीमा पर कितना खर्च आता है?

    बीमा की लागत इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस प्रकार की पॉलिसी लेते हैं, उसका सम इन्श्योर्ड कितना है, आपकी आयु कितनी है, तथा आप उस पॉलिसी की परिपक्वता पर कौन से लाभों की अपेक्षा करते हैं।

  • एक जीवन बीमा पॉलिसी में निवेश करने के कौन से लाभ हैं?

    • एक जीवन बीमा पॉलिसी में निवेश करने से आपको अपने एवं अपने परिवार हेतु एक धन-संग्रह एवं वित्तीय स्थिरता प्रदान करने में सहायता मिलती है।
    • एक जीवन बीमा पॉलिसी के माध्यम से आप मौजूदा आयकर कानून की धारा 80सी एवं 10(10डी) के अन्तर्गत कर लाभ पा सकते हैं।