श्री पी एस जयकुमार

अध्यक्ष

योग्यता से एक चार्टर्ड एकाउंटेंट, श्री जयकुमार ने एक्सएलआरआई, जमशेदपुर सेबिजनेस मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रैजुएट डिपलोमा किया है। इसके अलावा, वह लंदन स्कूल ऑफ ईकनामिक्स और पलिटिकलसाइंस से चेवेनिंग गुरुकुल स्कालर हैं।

बैंक ऑफ बड़ौदा के एमडी और सीईओ के रूप में नियुक्ति से पहले, वह 2009 से वैल्यू बजट हाउसिंग (वीबीएचसी) के सह-संस्थापक और सीईओ के पद पर नियुक्त थे जो कम और मध्यम आय परिवारों के लिए हाउसिंग के लीडर थे। वह एनएचबी द्वारा नियंत्रित एकहाउसिंग फाइनेंस संस्था, होम फर्स्ट फाइनेंस कंपनी के सह-संस्थापक और गैर-कार्यकारी प्रमोटर निर्देशक थे जो उन ग्राहकों को वित्त देती थी जिनको बैंकों से बंधक ऋण प्राप्त नहीं होता था।

श्री जयकुमार ने भारत और सिंगापुर में सिटीबैंक के साथ भी काम किया है, जहाँ उसने 23 से अधिक वर्ष बिताए। भारत में उसने रिटेल बैंकिंग में कई नवीनताओं का योगदान दिया है। 1991 में वह भारत में पहले संपत्ति प्रतिभूतिकरण और 2006 में आर्थिक रूप से बाहर निकाले गए के लिए पहले बहुभाषी बायोमेट्रिक एटीएम के साथ जुड़े थे।

श्री जयकुमार ने सिटीबैंक में विविध पदों पर कार्य किया है, जैसेएक खजांची-उपभोक्ता बैंक, व्यापार विकास का प्रधान जो जमा और ऋण कारोबार को कवर करता है, सिटी फाइनेंशियल लिमिटेड का मैनेजिंग डायरैक्टर, एशिया प्रशांत देशों के लिए सिटीबैंक उपभोक्ता ऋण का प्रधान (इंडोनेशिया, फिलीपिंस, ऑस्ट्रेलिया, थाईलैंड, हांगकांग और कोरिया कवर करती है), कंट्री हेड- सिटीबैंक उपभोक्ता व्यापार और बैलेंस शीट मैनेजमेंट का प्रधान - एशिया प्रशांत। भारत में सिटीबैंक की कई सहायक कंपनियों में बोर्डके सदस्य के रूप में काम किया।

अपने खाली समय में, श्री जयकुमार को साइकिल चलाना, स्क्वैश और गोल्फ खेलना पसंद है।

श्री अजित कुमार रथ

निर्देशक

श्री अजित कुमार रथ वर्तमान में आंध्र बैंक के एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर के रूप में कार्यरत हैं और उन्होंने लार्ज कॉर्पोरेट क्रेडिट, अकाउंट्स, क्रेडिट मॉनिटरिंग, प्रायोरिटी सेक्टर, रिकवरी मैनेजमेंट, ह्यूमन रिसोर्सेस, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी और मार्केटिंग जैसे विभिन्न क्षेत्रों में काम किया है.

उनके नेतृत्व में आंध्र बैंक ने अनेक प्रतिष्ठित अवॉर्ड जीते हैं जैसे कि आईडीआरबीटी बैंकिंग एंड टेक्नोलॉजी एक्सिलेंस अवॉर्ड (२०१५-१६ और १६-१७), इन्फोसेक मैस्ट्रोज अवॉर्ड २०१६, नेशनल पेमेंट्स एक्सिलेंस अवॉर्ड २०१५, और इन्फोसिस फिनैकल क्लाइंट इन्नोवेशन अवॉर्ड २०१५ इत्यादि.

इससे पहले उन्होंने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के जनरल मैनेजर और चीफ इन्फॉर्मेशन ऑफिसर के रूप में सेवा दी है. बैंक में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने इसे आईटी उन्मुख बैंक में रूपांतरित करने में भूमिका निभाई है जिसके कारण बैंक को आईबीए, आईडीआरबीटी, एनपीसीआई और अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों की ओर से अनेक आईटी अवॉर्ड्स प्राप्त हुए हैं.

उन्होंने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की ओर से स्विफ्ट इंडिया डशेमेस्टिक सर्विसेस प्रा. लि. के बोर्ड में निदेशक के रूप में कार्य किया है और एनपीसीआई, स्विफ्ट इंडिया व स्टार यूनियन दाई इची इंश्योरेंस कंपनी की तकनीकी सलाहकार समिति के सदस्य रहे हैं. वे ज्ञान संगम में बैंकों द्वारा क्रियान्वित किए जानेवाले कार्य बिंदुओं की रचना करने के लिए टेक्नोलॉजी, डिजिटल और वित्तीय समावेशन के उप-समूह का हिस्सा भी रहे हैं.

वे आईबीए द्वारा फिक्की व नैसकॉम के सहयोग से आयोजित फिनटेक की मार्गदर्शक समिति का प्रमुख सदस्य रहे हैं और आपने भारतीय रिजर्व बैंक, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बैंक मैनेजमेंट और अन्य विश्वव्यापी प्रशिक्षणों द्वारा आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग लिया है.

श्री सायमन बुर्के

निर्देशक

इंश्योरेंस सेक्टर में सीनियर प्रोफेशनल रहे सायमन ग्रुप में २० वर्षों का अनुभव लेकर आ रहे हैं.

श्री बुर्के ने इंपीरियल कॉलेज, लंदन से केमिस्ट्री में बीएससी किया है और १९९९ में चार्टर्ड अकाउंटेंट बने. वे स्कॉटलैंड के इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स के सदस्य भी हैं और उन्होंने इंस्टीट्यूट की पेंशन और टैक्स कमिटीज में भी सेवा दी है.

आगे चलकर, श्री बुर्के ने स्टैंडर्ड लाइफ में ग्रुप टैक्स डायरेक्टर की भूमिका में काम किया. इस दौरान उन्होंने स्टैंडर्ड लाइफ के डिम्यूच्युअलाइजेशन के एक हिस्से का नेतृत्व किया और करीब ५० एक्चुअरीज, अकाउंटेंट्स और वकीलों की टीम की जिम्मेदारी संभाली.

आगे चलकर, लीगल एंड जनरल में सायमन ने टैक्स फंक्शन का नेतृत्व किया और अनेक इंडस्ट्री अवॉर्ड्स जीते. वे एल एंड जी शेयरहोल्डर फंड्स इनवेस्टमेंट कमिटी के सदस्य हैं, जो ग्रुप की अतिरिक्त पूँजी का प्रबंधन करती है और लीगल एंड जनरल फायनांस पीएलसी के निदेशक हैं.

वर्तमान में, सायमन लीगल एंड जनरल, लंदन के ग्रुप कमर्शियल डायरेक्टर हैं. अपने खाली समय में वे दौडने, साइक्लिंग, स्कीइंग, नौकायन का आनंद लेते हैं और आर्सेनल एफसी को सपोर्ट करते हैं.

श्री एरिक टकर

निर्देशक

श्री टकर 1979 में बैंक ऑफ बड़ौदा में शामिलहुए। युगांडा में सहायक बैंकों के साथ एक कार्यकाल के अलावा उन्होंने विभिन्न पदों पर काम किया है, जैसे ब्रांच हेड, रीज़नल मैनेजर और ज़ोनल मैनेजर। बहरीन संचालन के मुख्य कार्यकारी के रूप में अपने समय के दौरान उन्होंने बहरीन (एजी) इलाके की स्थापना भी की।

आजकल वह मुंबई में बैंक ऑफ बड़ौदा के कॉर्पोरेट आफिस में जनरल मैनेजर के रूप में काम कर रहे हैं और निर्देशक मंडल के सेक्रेटरी भी हैं।

He is presently serving as the General Manager - International Operations at the corporate office of Bank Of Baroda in Mumbai.

श्री कृष्णमूर्ति वी वाराणसी

निर्देशक

श्री वाराणसी, जनरल मैनेजर-आंध्र बैंक बैंकिंग और फायनांस के संबंध आईटी डोमेन के गहरे ज्ञान के साथ एक मंजे हुए बैंकर हैं.

१९७९ में आंध्र बैंक के साथ एक क्लर्क के रूप में जुडने के बाद, श्री वाराणसी विभिन्न क्षमताओं में संपूर्ण अुनभव लेते हुए जनरल मैनेजर बने. आधुनिक समय के साथ अपनी कुशलता को तराशते हुए उन्होंने इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी को चुना और बदलते समय के अनुरूप बैंक की विभिन्न टेक्नोलॉजिकल प्लेटफॉर्म्स के रूपांतरण में शामिल हुए.

हेड ऑफिस में जनरल मैनेजर के रूप में जुडने से पहले, वे आंध्रप्रदेश के दो महत्वपूर्ण जिलों यानी चित्तूर और कडपा का समावेश करनेवाले तिरुपति जोन के प्रमुख थे. वर्तमान में वे कॉर्पोरेट प्लानिंग, क्रेडिट मॉनिटरिंग, मार्केटिंग एंड कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन्स जैसे विभिन्न विभागों का ध्यान रख रहे हैं.

उनका मानना है कि वित्तीय विश्व में टेक्नोलॉजी बेसिक अकाउंटिंग संरचना के लिए पोशाक के समान है जो न सिर्फ कठिन प्रचालनों को आसान बना देता है बल्कि क्रियान्वन करने योग्य मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम भी प्रदान करता है.

Prior to joining Andhra Bank, Mr. Jain handled responsibility as the General Manager, National Banking Group (North) for Bank of India covering the states of Delhi, Punjab, Haryana, Rajasthan, Jammu & Kashmir and Union Territory of Chandigarh.

श्री कृष्णा अंगारा

आज़ाद निर्देशक

एक्सेंचर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड में श्री अंगारा एक सलाहकार रहें हैं (संचार, मीडिया और तकनीक)। इससे पहले वह वोडाफोन इंडिया सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड और वोडाफोन एस्सार लिमिटेडमें संचालन के निर्देशक थे। वहाँ वह सारा कारोबार संभालते थे, जिसमें उत्पाद विकास, मार्कटिंग अवसर, ग्राहक संबंध, नेटवर्क विकास, मानव संसाधन, भविष्यवाणी और वित्तीय लाभ शामिल हैं।

भूतकाल में, उन्होंने बीपीएल मोबाइल लिमिटेड और आरपीजी रिको लिमिटेड के प्रेसीडेंट और सीईओ के रूप में काम किया। वित्तीय और संचालन सफलता, उत्पाद और मार्कटिंग नवीनताएँ, व्यय प्रबंधन और ग्राहक संतुष्टि बनाने में फोकस करने के साथ श्री अंगारा नए व्यवसायों को शुरू करने में माहिर है।

Mr. Sen was responsible for the Finance function in India, Bangladesh and Sri Lanka for the entire Citi franchise encompassing the Bank and several other legal entities, covering controllership, Corporate Treasury, Financial Planning, Product Control and Tax. He was a member of all Policy level Committees and had a significant ongoing involvement in various areas of Management of the franchise with special emphasis on Business planning/Strategy, regulatory reporting aspects, financial planning and policies, ALCO and liquidity planning and corporate governance / legal entity management. He was also, responsible for interface with external rating agencies, banks and investors to broad-base funding of non-bank vehicles. He played a significant role in advocacy with regulators on key issues in the banking landscape.

Mr. Sen has a B.Tech (Hons) degree from the Indian Institute of Technology, Kharagpur and a Post-graduate Diploma in Management from the Indian Institute of Management with Majors in Finance & Information Systems.

श्री अभिजीत सेन

स्वतंत्र निर्देशक

श्री अभिजीत सेन ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से टेक ऑनर्स किया है और वे इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट से फायनांस एंड इन्फॉमेशन सिस्टम्स में मेजर हैं.

सिटी इंडिया से चीफ फायनांशियल ऑफिसर के रूप में सेवानिवृत्त होने के बाद श्री सेन १ मार्च २०१५ से ०४ अगस्त २०१७ तक एक्सटर्नल एड्वाइजर के नाते जनरल अटलांटिक इंडिया के साथ जुडे थे. वे अंशकालिक सीनियर एड्वाइजर के रूप में बैंकिंग और फायनांशियल सर्विसेस सेक्टर में गतिविधियों के लिए व्यापक रणनीतिक सहयोग प्रदान करने के लिए ३ अगस्त २०१५ से ई एंड वाई के साथ भी जुडे हैं.

श्री सेन भारत, बांग्लादेश और श्रीलंका में संपूर्ण सिटी फ्रैंचाइज के लिए फायनांस फंक्शन के लिए जिम्मेदार हैं जिसमें कंट्रोलरशिप, कॉर्पोरेट ट्रेजरी, फायनांशियल प्लानिंग, प्रोडक्ट कंट्रोल और टैक्स का समावेश करने वाले बैंक और अन्य अनेक विधिक निकाय शामिल हैं. वे सभी पॉलिसी लेवल कमिटियों के सदस्य थे और फ्रैंचाइज के प्रबंधन के विभिन्न क्षेत्रों में निरंतर उल्लेखनीय रूप से शामिल रहे हैं जहॉं खासतौर से बिजनेस प्लानिंग/ स्ट्रैटेजी, विनियामक प्रतिवेदन के पहलू, वित्तीय नियोजन और नीतियों, एएलसीओ और नकदीकरण नियोजन व कॉर्पोरेट अधिशासन/ विधिक निकाय प्रबंधन पर विशेष ध्यान देते थे. वे बाह्य रेटिंग एजेंसियों, बैंकों और निवेशकों से लेकर व्यापक आधार वाले नॉन बैंक वेहिकल्स की फंडिंग तक के लिए समन्वय करने के लिए जिम्मदार रहे हैं. आपने बैंकिंग के धरातल पर महत्वपूर्ण मामलों पर विनियामकों के साथ पैरवी करने में उल्लेखनीय भूमिका निभाई है.

श्री सेन ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, खडगपुर से बी.टेक (ऑनर्स) डिग्री ली है और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट से पोस्ट -ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट फायनांस एंड इन्फॉर्मेशन सिस्टम्स में मेजर के साथ किया है.

श्री आलोक वाजपेयी

स्वतंत्र निर्देशक

अर्न्स्ट एंड व्हिने-लंदन से चार्टर्ड अकाउंट बने, श्री वाजपेयी वर्तमान में भारत में डीआईटी (यूके सरकार) के लिए फिनटेक पर एक्सटर्नल एड्वाइजर के रूप में कार्यरत हैं. वे एवी एड्वाइजरी के चेयरमैन और डिजिटल गोल्ड इंडिया के निदेशक भी हैं जो इनवेंट कैपिटल और वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल के बीच एक संयुक्त उद्यम है.

२००५ में, श्री वाजपेयी ने भारत में व्यापक श्रेणी की फायनांशियल सर्विस कंपनी के रूप में डॉने डे एवी की स्थापना की और वे कंपनी के वाइस चेयरमैन थे. उन्होंने २०१० में दमदार नॉन-कंपीट अनुच्छेदों के साथ २००९ में सफलतापूर्वक व्यवसाय बेच दिया.

अपने लंबे कार्यकाल में श्री वाजपेयी ने विनियामकों के साथ काम किया है और म्युचुअल फंड उद्योग में बेहतरीन पद्धतियां प्रस्तुत और क्रियान्वित की हैं तथा सिक्योरिटीज एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) में सिक्योरिटीज मार्केट इंफ्रास्ट्रक्चर लीवरेजिंग एक्सपर्ट टास्क फोर्स के सदस्य और एएमएफआई के बोर्ड में निदेशक के रूप में महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं. आपने सेबी, स्टॉक एक्सचेंजेस, और विभिन्न कैपिटल मार्केट के मामलों में इंडस्ट्री के संस्थानों के साथ काम किया है.

२०१२ से श्री वाजपेयी निरंतर उद्यमशीलता और वेंचर निवेशक के रूप में लगे रहे हैं. जो विविधतापूर्ण कंपनियों के सेट में निवेशक, सलाहकार और बोर्ड डायरेक्टर के रूप में शामिल रहे हैं.

श्री अरुण चौगले

स्वतंत्र निर्देशक

सशक्त ग्राहक और मार्केटिंग अनुभव सहित एफएमसीजी प्रोफेशनल श्री चोगले कंज्यूमर और रिटेल के क्षेत्र में अपनी खुद की ब्रांड एड्वाइजरी और स्ट्रैटेजिक कंसल्टिंग प्रैक्टिस चला रहे हैं जिसके पास सभी एसएमई, बडी भारतीय कंपनियों और एमएनसी में ग्राहक हैं.

अपनी कंसल्टिंग प्रैक्टिस से पहले अंतरराष्ट्रीय स्तर पर और भारत में उनका ३० वषों का विविधतापूर्ण और सफल मार्केटिंग करियर रहा है. आपने दो बेहतरीन कंपनियों - प्रॉक्टर एंड गैंबल तथा ब्रिटिश अमेरिकन के साथ जनरल मैनेजमेंट और कंज्यूमर मार्केटिंग में सीनियर लीडरशिप के पदों पर काम किया है.

वर्तमान में आप नील्सन तथा अन्य संस्थानों जैसे क्लाइंट्स के साथ रिटेल और कंज्यूमर प्रोडक्ट्स इंडस्ट्री में विशेष रूप से सलाहकार और मैनेजमेंट कंसल्टेंट हैं.

Vishakha is a commerce graduate and a Chartered Accountant. She is a Fellow of the Insurance Institute of India and holds a Post Graduate Diploma in Computer Systems

Ms. R. M. VISHAKHA

Managing Director and CEO

RM Vishakha, recognised for her result-oriented leadership approach towards challenging assignments including start-ups, restructuring and reorganisation, was previously associated with IndiaFirst Life as the Chief Business Officer. Vishakha has had a diverse career spanning over two decades with special focus on Bancassurance. Prior to IndiaFirst Life, she was with Canara HSBC Oriental Bank of Commerce Life Insurance Company Limited as the Director of Sales and Marketing.

Vishakha’s constant endeavour is to maintain a critical balance of functional and company objectives, and to constructively manage employee, manager, distributor and shareholder expectations. Her ability to drive strategic growth through effective implementation has many achievements to its credit. She successfully developed bancassurance models within public & private sectors as well as foreign banks and brought into being the first-ever retail bancassurance model. Her wide-ranging experience also comprises building and developing Group Insurance business.

Recognising the achievements through her three-decade long journey in the Indian insurance domain, ASSOCHAM (Associated Chambers of Commerce and Industry of India) honoured RM Vishakha with the Individual Achievement Award. She was also the recipient of the CA Business Leader – Woman Award from ICAI (Institute of Chartered Accountants of India), an eminent Indian statutory body. She was also among the distinguished finalists at the recent 15th Asia Business Leaders Award 2016 and for the 12th edition of the India Business Leaders Award 2017, acknowledging her amongst the remarkable business leaders in Asia and India, respectively. More recently, Vishakha made it as the 38th Most Powerful Woman in Business – a recognition bestowed by the prestigious Fortune Magazine.She was on the prestigious Forbes India W-Power Trailblazer list 2018 that honors women entrepreneurs and business professionals who’ve had significant achievements across diverse sectors

Vishakha is a commerce graduate and a Chartered Accountant. She is a Fellow of the Insurance Institute of India and holds a Post Graduate Diploma in Computer Systems