आर. एम. विशाखा

मैनेजिंग डायरैक्टर और सीईओ

आर.एम. विशाखा अपने परिणाम उम्मुख लीडरशिप दृष्टिकोण और चुनौतीपूर्ण कार्य को संभालने के गुणोंके लिए पहचानी जाती है जिसमें स्टार्ट-अप्स, पुनर्निमाण और पुनर्गठन शामिल है। वह पहले इंडियाफर्स्ट लाइफ के साथ चीफ बिजनेस ऑफिसर के रूप में जुडी थीं. विशाखा ने दो दशकों के दौरान बैंकाश्यारेंस पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित करने के साथ विविधतापूर्ण जिम्मेदारियां निभाई हैं. इंडियाफर्स्ट लाइफ से पहले वे केनरा एचएसबीसी ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड में सेल्स एंड मार्केटिंग के निदेशक के रूप में काम किया है.

विशाखा कार्यगत और कंपनी के उद्देश्यो के बीच महत्वपूर्ण संतुलन बिठाने और कर्मचारी, प्रबंधक, वितरक और शेयरधारकों की अपेक्षाओं का रचनात्मकता के साथ प्रबंधन करने का प्रयास निरंतर करती रहती हैं. प्रभावी क्रियान्वयन के जरिए रणनीतिक वृद्धि को प्रेरित करने की उनकी क्षमता ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं. उन्होंने पब्लिक आर प्रायवेट सेक्टर्स तथा विदेशी बैंकों के अंदर सफलतापूर्वक बैंकाश्योरेंस विकसित किया है और अभी तक का पहला रिटेल बैंकाश्योरेंस मॉडल प्रस्तुत कियार है. उन्हें ग्रुप इंश्योरेंस बिजनेस का निर्माण और विकास करने का भी व्यापक अनुभव प्राप्त है.

भारतीय इंश्योरेंस के क्षेत्र में उनके तीन दशक लंबे सफर में हासिल की गई उपलब्धियों को देखते हुए एसोचैम (असोसिएटेड चैंबर्स ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया) ने इंडिविजुअल अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया है. आपको सीए बिजनेस लीडर- विमन अवॉर्ड भी आईसीएआई (इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया) की ओर से मिला है जो कि एक प्रतिष्ठित भारतीय वैधानिक संस्थान है. हाल के १५वें एशिया बिजनेस लीडर्स अवॉर्ड २०१६ और इंडिया बिजनेस लीडर्स अवॉर्ड २०१७ के १२वें संस्करण में उनका नाम विशेष फाइनलिस्ट्स में था, जो क्रमश: एशिया और भारत में उन्हें उल्लेखनीय बिजनेस लीडर के रूप में पहचान दिलाता है. अभी हाल ही में, विशाखा ने ३८वीं मोस्ट पावरफुल विमन इन बिजनेस के रूप में सम्मान पाया है- यह सम्मान प्रतिष्ठित फॉर्चून मैगजीन द्वारा दिया जाता है. आप फोर्ब्स इंडिया-डब्ल्यू पावर ट्रेलब्लेजर लिस्ट २०१८ में भी थीं जो विविध क्षेत्रों में उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल करनेवाली महिला उद्यमियों और बिजनेस प्रोफेशनल्स को सम्मानित करता है.

विशाखा कॉमर्स ग्रेजुएट और चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं. आप इंश्योरेंस इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की फेलो हैं और आपके पास कंप्यूटर सिस्टम्स में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा भी है.

ईमेल: ceo@indiafirstlife.com

रूषभ गांधी

डिप्टी सीईओ

वित्तीय सर्विस उद्योग में रुशभ का दो से अधिक दशकों का अनुभव है - 16 साल जीवन बीमा में। बीमा उद्योग और उसकी मार्किट गतिशीलता की गहरी समझ के साथ, उन्होंने संस्थाओं में उच्च-प्रदर्शन परिणाम दिए हैं। बिक्री, व्यापार के विकास और वितरण रणनीति में अपनी योग्यता दी है, रूशभ विभिन्न भूमिकाओं में सफल बिक्री माडल स्थापित करने और चलाने के लिए जिम्मेदार है।

रूशभ बिक्री और रणनीति के बारे में उत्साहित है। इंडियाफर्स्ट लाइफ में आने से पहले, रुशभ केनरा एचएसबीसी लाइफ इंश्योरेंस में सेल्स डायरैक्टर थे। इससे पहले वह केनेरा अवीवा लाइफ इंश्योरेंस और बिड़ला सन लाइफ इंश्योरेंस के साथ थे। अवीवा में, वे इंडोनेशिया में अपने जीवन बीमा मताधिकार की स्थापना करने में भी सहायक थे।

वर्तमान में, रूशभ इंडियाफर्स्ट लाइफ इंश्योरेंस में बिक्री और मार्कटिंग की अगुआई कर रहें हैं। वह 10,000+ बैंक शाखाओं और 1000 से अधिक कर्मचारीयों की मजबूत टीम का संचालन कर रहे है।

रुशभ नरसी मोनजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (एनएमआईएमएस) से मैनेजमेंट स्टडीज में पोस्ट ग्रैजुएट है। उन्होंने इनसीड, फ्रांस में एक समूह विकास कार्यक्रम में भी भाग लिया है।

ए. के. श्रीधर

निर्देशक और मुख्य निवेश अधिकारी

श्रीधर सबसे अनुभवी पेशेवर निवेश विशेषज्ञ है। निवेश में उनका विश्लेषणात्मक दृष्टिकोण उनकी गहरी बाजार की जानकारी और बदलते कारोबार की गतिशीलता को पहले देखने की क्षमता के साथ मेल खाता है। उनके 30 साल का अनुभव कॉर्पोरेट वित्त, निवेश मैनेजमेंट, म्युचुअल फंड, व्यापार रणनीति और पुनर्गठन और बीमा क्षेत्रों पर फैला है। श्रीधर सक्रिय रूप से मैक्रो आर्थिक संकेतक और संपत्ति निर्धारण शिफ्ट ट्रैक करते है और भारत के साथ-साथ दक्षिण पूर्व एशिया में विभिन्न व्यावसायिक फोरम और अकादमिक चक्रों के वित्त बाजार पर अपनी मत देने में भी सक्रिय है।

श्रीधर एनएससी-आईआईएसएल इंडैक्स पालिसी कमेटी और इंडियन मर्चेंट चैंबर (आईएमसी) की कैपिटल मार्किट कमेटी के सदस्य है। इसके अतिरिक्त, वह 3 से अधिक वर्षों के लिए असोसीएशन आफ म्युचुअल फंड इन इंडिया (एएमएफआई) की बोर्ड के डायरैक्टर थे।

अपने पहले काम मे, श्रीधर यूएसडी 10 बिलियन के एयूएम को मैनेज करते यूटीआई एसेट मैनेजमेंट कंपनी लिमेटिड के कार्यकारी निर्देशक और मुख्य निवेश अधिकारी (सीआईओ) थे। बाद में, उनको सिंगापुर में यूटीआई इंटरनेशनल लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में उन्नत किया गया था, जो अंतरराष्ट्रीय संस्थागत निवेशकों के लिए बहु स्तरीय, बहुत देश की संपत्ति मैनेज करते थे। वर्तमान में आप इंडियाफर्स्ट लाइफ इंश्योरेंस में इनवेस्टमेंट मैनेजमेंट, एएलएम फंक्शन्स के प्रमुख हैं.

बाद में, उनको सिंगापुर में यूटीआई इंटरनेशनल लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में उन्नत किया गया था, जो अंतरराष्ट्रीय संस्थागत निवेशकों के लिए बहु स्तरीय, बहुत देश की संपत्ति मैनेज करते थे। वर्तमान में आप इंडियाफर्स्ट लाइफ इंश्योरेंस में इनवेस्टमेंट मैनेजमेंट, एएलएम फंक्शन्स के प्रमुख हैं.

श्रीधर एक चार्टर्ड अकाउंटेंट है और फिजिक्स में बैचेलर आफ साइंस डिग्री प्राप्त है।

मेहित रोचलानी

निर्देशक- आपरेशन और आईटी

मोहित का कुछ प्रमुख वित्तीय संस्थानों के साथ करीब दो दशकों का विविध अनुभव फैला हुआ है। वह इंडियाफर्स्ट लाइफ इंश्योरेंस में एक अनुभवी रहे हैं और अपनी अब तक की यात्रा में, उन्होंने समय में कई स्थानों में विभिन्न विभागों की स्थापना और नेतृत्व किया है।

इंडियाफर्स्ट लाइफ के साथ मोहित की यात्रा की शुरुआत उनके द्वारा कंपनी की सारी संचालन प्रक्रियाओं की स्थापना करके हुई। फिर उन्होंने बैंकअशोरेंस चैनल के लिए रिलेशनशिप मैनेजमेंट और मुनाफा उत्पत्ति की जिम्मेदारी ली। बाद में, उन्होंने चीफ मार्किटिंग अधिकारी के रुप में कंपनी की मार्किटिंग, डिजीटल और वैकल्पिक चैनल टीमों की प्रधानगी की।

वर्तमान में, मोहित इंडियाफर्स्ट लाइफ इंश्योरेंस में डायरैक्टर आफ आपरेशन & आईटी है।

सतीशवर बालाकृष्णन

मुख्य वित्तीय अधिकारी

सतीश्वर बालकृष्णन राव इंडियाफर्स्ट लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के चीफ फायनांशियल आफिसर हैं. आपके पास स्टार्ट-अप्स और अग्रणी लाइफ इंश्योरेंस संस्थानों में फायनांस, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी और ऑपरेशन्स मैनेजमेंट में काम करने का व्यापक अनुभव है. उनका कार्यकाल दो दशकों का है. उन्हें वृद्धि को प्रेरित करने, कार्यक्षमता बढाने और सबसे नीचेवाले जीवन के प्रॉफिट को सुधारने के लिए बिजनेस ऑपरेशन्स को श्रृंखलाबद्ध करने में कुशलता हासिल है.

सतीश्वर इंडियाफर्स्ट लाइफ के संस्थापक सदस्य हैं और आप पर इंडस्ट्री एनैलिसिस व कॉर्पोरेट उपक्रमों के लिए सूझबूझ आधारित निर्णय प्रक्रिया के साथ फायनांशियल अकाउंटिंग व नियंत्रण, बिजनेस प्लानिंग व बजटियग, निवेश प्रचालनों की जिम्मेदारी है. इससे पहले आपने इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, प्रोसेस, और ऑपरेशन्स टीम का भी नेतृत्व किया है और संस्थागत लक्ष्यों को आधार प्रदान करने के लिए अत्यंत रणनीतिक, आईटी प्रेरित रूपांतरकारी बिजनेस उपक्रमों को प्रोत्साहित करने की जिम्मेदारी का वहन किया है.

पहले सतीश्वर रिलायंस लाइफ इंश्योरेंस कंपनी में बिजनेस कंट्रोलर के रूप में काम कर चुके हैं. आप आईसीआईसीआई प्रुडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के संस्थापक सदस्य भी रह चुके हैं. आपने एस.बी. बिलिमोरिया एंड कं. (चार्टर्ड अकाउंटेंट्स) से अपने करियर की शुरुआत की थी.

सतीश्वर के पास मुंबई विश्वविद्यालय से कॉमर्स की डिग्री है और आप चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं.

पिउली दास

नियुक्त एक्चुअरी

इंडियन स्टेटिस्टिकल इंस्टिट्यूट से क्वान्टिटेटिव ईकनामिक्स में एमएस और लेखकों के संस्थान (भारत) की एक साथी, पिउली दास का अनुभव 12 साल से अधिक है। भूतकाल में, पिउली भारत और यूएसए में कई वित्तीय कंपनियों के साथ जुड़ी रही है जैसे आईएनजी लाइफ इंश्योरेंस, न्यू यॉर्क लाइफ इंश्योरेंस और ड्यूश बैंक।

इंडियाफर्स्ट से पहले, पिउली रिलायंस लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड में एक बीमांकिक थी। वह रिलायंस लाइफ में रिपोर्टिंग- बीमांकिक की प्रधानगी कर रही थी।

आजकल, पिउली इंडियाफर्स्ट लाइफ इंश्योरेंस में नियुक्त एक्चुअरी है।

केआर विस्वनारायण

कंपनी सेक्रेटरी और प्रमुख - गवर्नेंस

विस्वनारायण के पास विविध क्षेत्रों में काम करने का तीन दशकों का अनुभव है. फायनांस, टैक्सेशन, फंड अकाउंटिंग और ऑपरेशन्स, फंड रेजिंग, विलय और अधिग्रहण के क्षेत्रों में उनके व्यापक अनुभव ने इंडियाफर्स्ट लाइफ की रणनीतिक योजनाओं को आकार दिया है.

प्रिंट मीडिया में अपने शुरुआती कार्यकाल में, म्यूचुअल फंड्स व वेंचर फंड कंपनी में आपने इनवेस्टर सर्विसिंग, सेक्रेटरियल एंड कंप्लायंस में भी कुशलता हासिल की. इंडियाफर्स्ट लाइफ में कंपनी के कानूनी, सेक्रेटरियल, जोखिम, ऑडिट व अनुपालन के कार्य सीधे विश्वनारायण की जिम्मेदारी के अंतर्गत आते हैं.

इससे पहले विश्वनारायण टाइम्स ऑफ इंडिया, डीएसपी मेरिल लिंच म्युचुअल फंड और बिरला सनलाइफ म्युचुअल फंड में नेतृत्व से जुडे पदों पर काम कर चुके हैं. आपने जेपी मॉर्गन, अर्बन इन्फ्रास्ट्रक्चर और एलआईसी एचएफएल जैसे संस्थानों के साथ भी सेक्टर-विशिष्ट वेंचर फंड्स में काम किया है.

मुंबई विश्वविद्यालय से कॉमर्स ग्रेजुएट विश्वनारायण एक योग्यता प्राप्त चार्टर्ड अकाउंटेंट और कंपनी सेक्रेटरी हैं. अपने करियर के आरंभिक चरणों में वे यूएसए में मेरिल लिंच, प्रिंसटोन और जेपी मॉर्गन, न्यूयॉर्क में प्रशिक्षित होनेवाले कुछ प्रोफेशनल्स में एक थे जहां उन्होंने अर्थव्यवस्था में होनेवाली गतिविधियों के अनुसार कार्य संपन्न करने के लिए महत्वपूर्ण क्षमताएं विकसित कीं.

सोनिया नोटानी

मुख्य रणनीति अधिकारी

सोनिया नोटानी इंडियाफर्स्ट लाइफ की संस्थापक सदस्य हैं. आपके पास बीएफएसआई के क्षेत्र में व्यापक कुशलता है. उनके पास विभिन्न कार्य विभागों में काम करने का अनुभव है जैसे प्रोडक्ट मैनेजमेंट, रणनीतिक पहल, व्यावसायिक रणनीति, प्रशिक्षण, सोशल कॉमर्स, शाखा प्रचालन, चैनल सेल्स, और व्यवसाय अधिग्रहण तथा संस्थापन.

आपका सफर आदित्य बिरला ग्रुप के साथ आरंभ हुआ. आपने इंडियाफर्स्ट लाइफ के साख काम करने से पहले बहुराष्ट्रीय कंपनियों जैसे सिटीबैंक, रिलायंस और केपीएमजी के साथ काम किया है.

इंडियाफर्स्ट लाइफ में सोनिया ने अनेक रणनीतिक प्रकल्पों को दिशा दी है और अनेक कार्यगत प्रोफाइल्स का नेतृत्व किया है.

वर्तमान में, आप प्रोडक्ट डेवलपमेंट, स्ट्रैटेजी एंड एनालिटिक्स, कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन्स और पीआर तथा स्ट्रैटेजिक अलायंसेस का नेतृत्व कर रही हैं.

सेंट जेवियर्स कॉलेज और नरसी मोनजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, मुंबई की भूतपूर्व छात्रा रहीं सोनिया इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएट हैं और आपने एमबीए की डिग्री हासिल की है.

प्रवीण मेनन

मुख्य जन अधिकारी

प्रवीण मेनन के पास प्रतिभा प्रबंधन, उत्तराधिकार नियोजन, परिवर्तन एवं कार्यनिष्पादन प्रबंधन तथा प्रशिक्षण व विकास के क्षेत्रों में फैसिलिटेटिव लीडर के नाते दो दशकों का व्यापक अनुभव है.

इनके ऊपर कंपनी की सबसे महत्वपूर्ण संपत्ति यानी उसके कर्मचारियों की वृद्धि और करियर से जुडी महत्वाकांक्षाओं के लिए अनुकूल वातावरण निर्मित करने की जिम्मेदारी है. २०१५ में इंडियाफर्स्ट लाइफ से जुडनेवाले प्रवीण ने कर्मचारियों का हौसला बढाते हुए, अवरोधों को नियंत्रित करते हुए और वचनबद्ध टीमों का निर्माण करने पर केंद्रित उपक्रमों के जरिए उत्कृष्ट मानव संसाधन की पद्धतियॉं स्थापित की हैं. आपने प्रचालनों को क्रमबद्ध करने की महत्वपूर्ण प्रबंधन की प्रक्रियाओं के सफल क्रियान्वयन की निगरानी की है.

अपने करियर के दौरान प्रवीण ने ऐक्सिस बैंक, एसी नील्सन, आईडीबीआई फेडरल लाइफ इंश्योरेंस, सिटीबैंक, और एचएसबीसी जैसी कंपनियों के लिए काम किया है. अपने बहुआयामी प्रोफेशनल जीवन में आपने लाभ मुआवजा, रिवॉर्ड्स, एचआर सर्विस डिलीवरी, और लोगों को संलग्न करने की पद्धतियों की रचना करने में उत्कृष्टता प्रदर्शित की है.

एक विचारशील लीडर होने के नाते प्रवीण जन प्रबंधन और मनपसंद नियोक्ता बनने के लिए नित बदलती महत्वकांक्षाओं से प्रेरित होकर काम करनेवाले कर्मचारियों के अनुसार अनुकूलन करने के बारे में भारत भर में प्रतिष्ठित फोरम्स में और शैक्षिक परिसंवादों में अपना नजरिया सक्रियता से व्यक्त करते रहते हैं. वेलिंगकर इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, नरसी मोनजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज तथा टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल सायंसेस के भूतपूर्व विदयार्थी प्रवीण ने बिजनेस मैनेजमेंट की डिग्री, फायनांस में एमबीए और एडवांस ह्यूमन रिसोर्सेस में डिग्री प्राप्त की है.

वेलिंगकर इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, नरसी मोनजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज तथा टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल सायंसेस के भूतपूर्व विदयार्थी प्रवीण ने बिजनेस मैनेजमेंट की डिग्री, फायनांस में एमबीए और एडवांस ह्यूमन रिसोर्सेस में डिग्री प्राप्त की है.